गाँव के रहने वाले पंकज त्रिपाठी बन गए हिंदी सिनेमा के इतने बड़े एक्टर

किस्मत भी लोगों के साथ कभी-कभी ऐसा खेल कर देती है जिसे हम कभी समझ ही नही पाते हैं। इसलिए तो कहा जाता है कि किस्मत का पता नही कब किसके साथ क्या हो जाए। ऐसे ही हमारे गाँव के रहने वाले पंकज त्रिपाठी के साथ हुआ जो उन्होंने कभी सोचा ही नहीं था।


जी हां, में बात कर रहा हूं फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' में सुल्तान का किरदार निभाने वाले पंकज त्रिपाठी की। जिनका जन्म विहार के गोपालगंज शहर में हुआ है लेकिन आज वो बॉलीवुड की कही जाने वाली नगरी मुंबई में रहते हैं।


एक इंटरव्यू में जब उनसे फ़िल्मी दुनिया में आने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि, दसवी क्लास में मुझे पता नहीं था कि फिल्म क्या होती है। सिनेमाघर हमारे घर से 20 किलोमीटर दूर था जो काफी दूरी थी। हम 11 वीं क्लास से फिल्म देखने के लिए जाने लगे।


पंकज बताते है कि बिहार और झारखण्ड में होने वाली छट पूजा में नौटंकी हुआ करती थी जिसमे वो लड़की का रोल निभाते थे। इसमें मुझे बहुत मज़ा आता था। स्कूल ख़त्म होने के बाद वो मुंबई चले आये और होटल मैनेजमेंट की तयारी करने लगे।


उसके बाद उन्होंने होटल मोर्या में काम किया और साथ ही थियेटर भी करने लगे। बस फिर क्या, थियेटर की वजह से उनकी ज़िन्दगी बदल गयी और वो थियेटर करने के लिए दिल्ली चले गए। और देखो आज पंकज का टैलेंट हम लोंगो के सामने है।


पंकज त्रिपाठी ने  कई टीवी सीरियल और फिल्मों में काम किया है। पंकज त्रिपाठी को अपने गाँव  से बेहद लगाव है इसलिए आज भी पंकज अपने गाँव जाना नही भूलते है।

Powered by Blogger.